मेरे कृष्ण सावले

Krishna

मुख पर है जिसके तेज़,
सजी है जिसके लिए यह सेज़|
है जिसके मुकुट पर मोर पंख,
और जो रखते है सदा अपने संग|
एक सुंदर सी मुरली,
पवित्र करती है संसार को जिसकी ध्वनि|
कहते है इनको माखन चोर,
जो चुराते है माखन बिना किये कोई शोर|
है जिसके मोह में बंधी मीरा,
और जो रचाते है गोपियों संग रास लीला|
है जिसके दिल में बसी राधे,
वो है मेरे कृष्ण सावले|

6 comments

  1. Aisha · December 12

    Jai Shri Krishna 🙏🙏😍😍
    Ati Uttam Kriti!!😄😊

    Liked by 1 person

  2. Kamal Kumar Bansal · December 12

    Waah pelyy sirra

    Liked by 1 person

  3. Madhusudan · February 7

    वाह।बेहतरीन कविता।👌👌

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s